रिश्ते भी शतरंज खेल की तरह हैं,

जब तक खेल दो खिलाड़ियों के 

बीच चल रहा है तो ठीक है!

जहाँ किसी तीसरे ने दखलंदाज़ी की,

वहीं सारा खेल बिगड़ जाता है|