Category: Kavita

मेरी माँ

जन्म वगरह का तो कुछ याद नहीं कुछ , आपने भी बाकी सबकी तरह मेरे लिए दर्द सहा होगा ! हाँ उन दिनों को याद करके, मुझे आज भी हंसी आती है! जब मुझे जबरदस्ती पकड़कर दाल पिलाई जाती थी | जो मुझे तब बिल्कुल पसंद नहीं थी | शब्द ज्ञान , मात्रा , लेख सब कुछ सिखाया था, अगर गलती करो तो डाँट भी लगाई जाती थी ! और जब मेरा दाखिला हुआ तो रोज शाम को स्कूल से…

प्रेम पत्र २(पत्र का जवाब)

जैसा आपने पिछले पत्र में पढा था कि प्रेमिका रूठकर व्यंगपूर्ण पत्र लिखती है और जब यह पत्र उसके प्रेमी को मिलता है तो वो अपनी प्रेमिका को मनाने और भरोसा दिलाने के मकसद से पत्र का प्रेमपूर्ण जवाब लिखता है मगर मस्तिष्क में चलते गणित के कारण कैसे उसके विचार पत्र के माध्यम से निकलते हैं पढ़िए – IMG source – http://i.huffpost.com/gen/1178281/images/o-LETTER-TO-EX-facebook.jpg प्रेमी  अपनी प्रेमिका से – प्रेमिका मेरी ओ प्राण प्यारी! तुम्हे एक पल हृदय से ना दूर किया…

प्रेम पत्र-1

एक प्रेमिका का प्रेमी  को    पत्र-   एक प्रेमी युगल उच्च शिक्षा के लिए एक दूसरे से बिछड़ जाता है ! प्रेमिका ने पास के ही एक कॉलेज में BA  में दाखिला लिया है और प्रेमी को दूसरे शहर इसलिए जाना पड़ता है क्योंकि पास के कॉलेज में B.Sc Mathmetics नहीं थी |अब दोनों को गए आधा वर्ष बीत गया इस बीच दोनों की ना कोई बात हुई ,ना कोई मिलाप हुआ ! आखिर होता भी कैसे उस जमाने में…