जैसा कि जगत विदित है,८नवम्बर को प्रधानमंत्री जी ने एक नोट बन्दी नाम से बम फोडा ,जिसके प्रभाव से अनेक लोगों को तरह तरह की असुविधायें हुईं !

मगर शादियों पर इसका मुख्य प्रभाव पडा !जैसा कि केजरीवाल जी ने बताया के सालियों को हम चैक तो नहीं दे सकते ,मनीष सिसौदिया जी ने इस बात का पुरजोर सहयोग किया और सालियों के हक की लडाई की बात की ! सिलसिला यही नहीं थमा हमारे कुछ और नेताओं का साली प्रेम इतना जागा उन्होने बौखलाहट में सालियों को इन्साफ दिलाने की एक मुहिम छेड दी |

शादियों का सीजन है, अब जैसे ही सालियों को इस मामले के बारे में पता चला ,उनका वर्षों पुराना दर्द हरा हो गया जब उन्हें जूता चुराई के लिए मात्र ११ रुपये दिये जाते थे ! उन्होने मिलकर एक संघ बनाने की मांग तक कर डाली, “अखिल भारतीय जूता चुराई संघ” और अपने पुराने धन को वापस लेने के लिए जीजा पर केस करने की कवायद शुरू कर दी |

इस बात का प्रभाव आम आदमी तक ही नहीं रूका !इसकी आंच नेताओं तक आयी, केजरीवाल जी, आशुतोष यहां तक की कुमार अविश्वास से भी सालियों का विश्वास उठ गया और उन्होने बकाया राशि की मांग की |

अब केजरीवाल जी दुविधा में हैं !बोल रहे हैं,” ये सब क्या करा रहे हैं मोदी जी !ये तो अच्छी बात नहीं है ,खुद की तो साली है नहीं इसलिए हम सबके लिए साजिश रच दी! पिछले १५ दिन से एक मूवी तक नहीं देख पाया हूं जी ! जीना हराम कर दिया है , सिर्फ आपके ही बागों में बहार रहेगी ,हमारा कोई हक नहीं शादी में जाने का ,शादी की दावत के मेन्यू से डोसा ,पावभाजी गायब हैं ,डांस करने के लिए डीजे नहीं हैं |”

“तरस नहीं आता आपको भारत की जनता पर , १५ दिन से लोग शराब की बोतल नहीं खरीद पा रहे ,शहर के लोग डिस्को नहीं जा रहे ,ऑडी,एसयूवी सब घर खडी हैं ,लोग मर रहे हैं हर्ट अटैक से और कितनी जाने लेंगे आप मोदी जी? ”
    .                    (सूत्रों के अनुसार खबर प्रकाशित की गयी है साथ में व्यंग के लिए नमक मिर्च लगायें गयी है!


____